डेढ़ करोड़ की लूट करने वालों को पुलिस ने फिल्मी अंदाज में पकड़ा

Screenshot_1.jpg

बेमेतरा: पुरानी फिल्मों में यह दिखाया जाता रहा है कि अपराधी कोई भी क्राइम करके जब भाग जाते हैं तब पुलिस वहां पहुंचती है. यह एक तरह से व्यंग भी है कि पुलिस कितने धीमे काम करती है. लेकिन छत्तीसगढ़ के बेमेतरा में पुलिस ने पुरानी फिल्मों के इस सीन को गलत साबित किया है. बेमेतरा पुलिस ने कैश वैन से डेढ़ करोड़ रुपये लूटने वाले अपराधियों को पकड़ा है. खास बात यह है कि पुलिस ने यह रिकॉर्ड समय में किया है. मुश्किल से दो घंटे में ही पुलिस ने सभी अरोपियों को हिरासत में ले लिया.

कैश वैन की गाड़ी 11 बजे बैंक से निकली थी. अतरिया और झाल के बीच में अतरिया मोड़ पर गाड़ी अचानक पंचर हो गई. गाड़ी वहां करीब 20 मिनट तक खड़ी रही. ड्राइवर समेत बाकी लोग गाड़ी की स्टेपनी बदलने का प्रयास करते हैं लेकिन कामयाब नहीं होते. तभी वहां एक सफेद रंग की बिना नंबर प्लेट वाली होंडा सिटी कार से चार हथियारबंद लोग आते हैं.

गाड़ी से उतरने के बाद वह बंदूक के बल पर हरियाणवी भाषा में ड्राइवर व गार्ड को धमकाते हैं. वह कहते हैं कि ‘पेटी हमको दो, पेटी हमको दो’. उसके बाद वह लोग गार्ड की बंदूक लेने के साथ ही कैश वैन में रखे एक करोड़ 64 लाख रुपये लूट कर फरार हो जाते हैं. रास्ते में आगे अंधियारपुर गांव के ग्रामीणों को इस लूट का पता चलता है तो वो गाड़ी पर पथराव भी करते हैं.

जिससे उनकी गाड़ी के शीशे टूट जाते हैं. पुलिस को जब इस लूट का पता चलता है तो हड़कंप मच जाता है. जिले के एसपी प्रशांत ठाकुर खुद अपनी टीम और स्टाफ के साथ गाड़ी का पीछा किया. पुलिस को देख कर आरोपियों ने गाड़ी भगाने का प्रयास किया.

तो पुलिस ने अपनी गाड़ी आगे लगा दी. इस पर लुटेरों ने फायरिंग शुरु कर दी. पुलिस की जवाबी फायरिंग में कई लुटेरे जख्मी हो गए. लूट के तीन आरोपियों को पकड़ लिया और गाड़ी को भी बरामद कर लिया गया है. एक आरोपी फरार हो गया है. हालांकि पैसा मिला है या नहीं इसका खुलासा पुलिस ने नहीं किया है.

Share this Post On:
scroll to top