मौसमी चटर्जी ऐसी अभिनेत्री जो बिना ग्लिसरीन के ही रो पड़ती थीं, मात्र 18 साल की उम्र में बन गई थी मां

Screenshot_1-1.jpg

बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री और बीजेपी नेता मौसमी चटर्जी आज अपना 71वां जन्मदिन मना रही हैं। मौसमी चटर्जी 60-70 के दशक की फेमस अभिनेत्रियों में मानी जाती थी। वह हिंदी के साथ-साथ बंगाली सिनेमा में भी अपनी एक अलग ही पहचान बना चुकी थी। मौसमी का जन्म 26 अप्रैल 1948 को कोलकाता में हुआ था। जानें आज उनके जन्मदिन में मौसमी के बारें में खास बातें।

मौसमी का असली नाम इंदिरा चटर्जी है। बंगाली फिल्म के डायरेक्टर तरुण मजूमदार से उनका नाम बदलकर मौसमी कर दिया था। 16 साल में मौसम चटर्जी ने अपने करियर की शुरुआत बांग्ला फिल्म ‘बालिका बधु’ से की और उसके बाद उन्होंने पहली हिंदी फिल्म ‘अनुराग’ साल 1972 में की।

मौसमी चटर्जी से बहुत ही कम उम्र में प्रोड्यूसर जयंत मुखर्जी से शादी की थी। जिसके बाद वह 18 साल की उम्र में मां बन गई थी। आज उनही मेघा और पायल नाम की 2 बेटियां है। मौसमी ने शादी के बॉलीवुड इंड्रस्ट्री में कदम रखा।

फिल्म रोटी कपड़ा और मकान (1974) की शूटिंग के दौरान मौसमी चटर्जी प्रेग्नेंट थीं। शूटिंग के दौरान उनके ऊपर ढेर सारा आटा गिर गया। अपनी हालत देखकर मौसमी चटर्जी रोने लगीं। मौसमी के मुताबिक, ‘उस वक्त मैं प्रेग्नेंट थीं और नीचे गिरने से ब्लीडिंग होने लगी थीं। मुझे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। मैं खुशकिस्मत थी कि मैंने बच्चे को नहीं खोया।’

मौसमी के बारें में कहा जाता है कि रोने वाली सीन बहुत ही आसानी से बिना ग्लिसरीन किए ही कर लेती थी। इस बारें में मौसमी ने बीबीसी को एक इंटरव्यू दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि जब किसी सीन में मुझे रोना होता था तो मैं सोचती कि ये मेरे साथ वास्तव में हो रहा है और मैं रो पड़ती थी।

मौसमी चटर्जी ने राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, शशि कपूर, जितेंद्र, संजीव कुमार और विनोद मेहरा जैसे कई एक्टर के साथ काम किया। उन्होंने रोटी कपड़ा और मकान, बेनाम, सबसे बड़ा रुपया, स्वर्ग नरक, घर एक मंदिर जैसी कई सुपरहिट फिल्में कीं।

Share this Post On:
  
scroll to top