पिता ने बेटे की प्रेमिका को कैरोसिन डालकर जलाया; बेटे की प्रेमिका नहीं थी पसंद , पीछा छुड़ाने उठाया कदम

Screenshot_2-2.jpg

रायपुर। अभनपुर थाना क्षेत्र के खोल्हा गांव में एक युवती को जलाकर हत्या करने की कोशिश की गई। युवती को गंभीर हालत में डीकेएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना दो दिन पहले की है। शनिवार शाम को कंट्रोल रूम से मिली सूचना पर पुलिस ने युवती के परिजनों का बयान लिया, तब पता चला कि गांव के लल्लू सतनामी से युवती का प्रेम-प्रसंग था। लल्लू के परिजन इससे नाराज थे। युवती को घर बुलाकर लल्लू के माता-पिता और भाभी ने मारपीट कर उसके शरीर पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी। पुलिस ने मामले में तीनों आरोपितों के खिलाफ हत्या की कोशिश का अपराध कायम कर लिया गया।

अभनपुर थाने में पदस्थ एएसआइ शब्बीर अली ने बताया कि शनिवार को कंट्रोल रूम से सूचना मिली थी कि ग्राम खोल्हा की कुमारी सरस्वती बाई सोनवानी (20) आग से जलने से डीकेएस अस्पताल भर्ती है। इस सूचना पर अस्पताल पहुंचकर सरस्वती के भाई कमल नारायण सोनवानी (24) से पूछताछ की गई। उसने बताया कि जलाल सतनामी, दुकलहा बाई, नैनी बाई ने सरस्वती के ऊपर मिट्टी तेल डालकर आग लगाई है। इसके आधार पर तीनों के खिलाफ धारा 307, 34 का अपराध कायम कर लिया गया।

मारपीट कर मिट्टीतेल उड़ेल कर लगा दी आग

पेशे से कार चालक कमल नारायण ने पुलिस को बताया कि वह अपने माता-पिता, छह भाई और चार बहन के साथ गांव में निवासरत है। छोटी बहन सरस्वती सोनवानी (20) का गांव के लल्लू सतनामी से पिछले तीन साल से प्रेम संबंध था, वह भी उसे पसंद करती थी। 18 दिसंबर की शाम छह बजे लल्लू सतनामी ने सरस्वती को अपने घर मिलने के लिए बुलाया तो वह उसके घर गई थी। वहां लल्लू को उसके माता-पिता ने कहीं बाहर भेज दिया था। सरस्वती के आते ही लल्लू की मां दुकलहा बाई, पिता जलाल सतनामी और भाभी नैनी बाई ने मारपीट करते हुए हत्या करने की नीयत से मिट्टी तेल शरीर पर उड़ेल कर आग लगा दी। इससे सरस्वती 85 फीसद जल गई। घटना की जानकारी मिलने पर परिजनों ने अभनपुर अस्पताल में उसे भर्ती कराया, फिर वहां से डीकेएस अस्पताल लेकर आए। पूछताछ में सरस्वती ने भी लल्लू के परिजनों द्वारा जलाने की जानकारी दी।

Share this Post On:
scroll to top