स्वस्थ्य मंत्री सिंह देव हुए सख्त, महिला डॉक्टर का हुआ निलंबन

dh.png

रायपुर : धरती पर भगवान कहलाने वाले डाक्टरों का अमानवीय चेहरा आपने कई बार देखा होगा, लेकिन इस बार एक डॉक्टर वो भी महिला डॉक्टर ने अमानवीयता की हदें पार कर दीं, कहा जाता है की महिला ममता की मूरत होती है, महिलाओं के दिल मे दया, प्रेम का भाव होता है, लेकिन इस निष्ठुर महिला डाक्टर ने ना सिर्फ डाक्टरों के पेशे को बल्कि महिलाओं को भी अपमानित करने का काम किया है, जशपुर के जिला अस्पताल में पदस्थ एक  महिला चिकित्सक ने एक पिता से अपने चेम्बर में पोछा लगवा लिया वो भी इस लिए क्योंकी उसके बीमार बेटे ने वहां उल्टी कर दी थी, बड़ी बात यह है की जिस व्यक्ति ने डॉक्टर के चेम्बर में पोछा लगाया वो कोई साधारण इंसान नही बल्कि पूर्व भाजपा विधायक का पुत्र था। फिर क्या था मामला संवेदनशील स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव के संज्ञान में आया और बिना देरी किये ल, डाक्टर की करतूत के लिए उसे निलंबित कर दिया गया है।
जिला अस्पताल के डाॅ.  द्वारा गंगाराम भगत के पुत्र के उल्टी करने के बाद पिता से पोछा लगवाने के मामले में जिला अस्पताल की महिला डाॅ. को निलम्बित कर दिया गया है। सिविल सर्जन के द्वारा चिकित्सा अधिकारी श्रीमती करकेट्टा को नोटिस देकर स्पस्टीकरण मांगा था, परन्तु श्रीमती करकेट्टा के द्वारा कोई भी स्पस्टीकरण प्रस्तुत नही किया गया। जिस कारण से जशपुर कलेक्टर के अनुसंशापर स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा उन्हे तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। निलम्बन अवधि में श्रीमती करकेट्टा का मुख्यालय कार्याल्य संभागीय सयुक्त संचालक, स्वास्थ्य सेवाये, संभाग सरगुजा निर्धारित किया गया है। निलम्बन अवधि के दौरान उन्हे जीवन निर्वहन भत्ते की पात्रता होगी।

Share this Post On:
  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top