जिला चिकित्सालय में शीघ्र लगेगी डायलिसिस मशीन:-कलेक्टर नवीन जिला चिकित्सालय भवन के लिये जमीन हेतु कलेक्टर ने दिये निर्देश…

IMG-20200223-WA0048.jpg

मर्च्युरी निर्माण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को जारी होगा कारण बताओ नोटिस…


कमलेश शर्मा– बैकुंठपुर/ जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने व जिला चिकित्सालय में आवश्यक जीवन रक्षक उपकरणों की उपलब्धता के लिये कलेक्टर कोरिया द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे है। इसी कड़ी में कलेक्टर डोमन सिंह की अध्यक्षता में रविवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय के सभाकक्ष में जिला स्तरीय स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने डीएमएफ से सभी स्वीकृत कार्यों की पूर्ण एवं प्रगतिरत व अधुरे कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने जिला खनिज संस्थान न्यास की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति, रेडक्रास सोसायटी, पीसीपीएनडीटी, एनजीटी एवं बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेण्ट सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा कर संबंधित अधिकारियों को मार्गदर्शन प्रदान करते हुए निर्देशित किया। उन्होंने इंडियन रेडक्रास सोसायटी शाखा कोरिया जिले की उपलब्धियां, खाता की जानकारी, सदस्यता बढ़ाने, आय बढ़ाने के स्त्रोत बढ़ाने तथा खर्च की जानकारी ली।
बैठक में कलेक्टर ने जिला निःशक्त पुनर्वास केंद्र के संचालन पर चर्चा की। उन्होंने समाज कल्याण अधिकारी को दिव्यांगों का सर्वे, राज्य एवं राष्ट्रीय योजनाओं का लाभ दिलाने हेतु निर्देशित किये। उन्होंने रक्तदान शिविर आयोजित करने, जिला चिकित्सालय में आईसीयू, एसएनसीयू एवं वेंटीलेटर की स्थापना, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में लैब, आवष्यक उपकरण, दवाई की उपलब्धता, लैब टेक्निशियन, बैकुण्ठपुर एवं जनकपुर में एनेस्थेसिया, स्त्री रोग विषेशज्ञ की नियुक्ति पर चर्चा करते हुए सभी विकासखण्डों में मरच्यूरी बनाने का निर्देश दिया। विदित हो कि डीएमएफ से मर्च्युरी बनाने राशि स्वीकृत की गई थी, किन्तु पूर्ण नहीं होने पर निर्माण एजेंसी के अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया। इसी तरह उन्होंने पीसीपीएनडीटी एक्ट के प्रावधानों पर चर्चा की तथा सभी विकासखंड के बीएमओ को मजिस्ट्रेट के साथ अस्पतालों के जांच के निर्देश दिये। बैठक में सोनोग्राफी लाइसेंस का रिनेवल किया गया। फ्लोर क्लिनिंग मशीन खरीदने कहा गया। जिला अस्पताल में डीएमएफ की राशि से डायलिसिस मशीन लगाने तथा नवीन जिला चिकित्सालय भवन के लिए जगह चिंहांकित करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि डीएमएफ की राशि से नवीन जिला चिकित्सालय भवन बनाने पर चर्चा चल रही है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि राज्य स्तर की टीम से जिले में कैंसर हास्टिल बनाने तथा मेडिकल कालेज स्थापना के संबंध में चर्चा की जा चुकी है। बैठक में कलेक्टर ने डाक्टरों को जिला चिकित्सालय मे निर्धारित समय पर उपस्थित होकर मरीजों का ईलाज और देख-रेख तथा साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। इस अवसर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रामेश्वर शर्मा, सिविल सर्जन डॉ एस.के.गुप्ता, बीएमओ, आरएमओ, आरएमए, एमओ, बीपीएम, नगर पालिका के अधिकारी, लोक निर्माण विभाग, सीएसईबी एवं ई एण्ड एम के अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Share this Post On:
scroll to top