14 साल बाद टूटा वनवास, होगी घर वापसी, 17 को भाजपा के हो जायेंगे मरांडी, मिलन समारोह में शाह व नड्डा रहेंगे

Screenshot_1-1.jpg

रांची : झाविमो के अध्यक्ष व राज्य के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की 14 साल बाद भाजपा में वापसी हो रही है़ इसकी औपचारिकताएं पूरी कर ली गयी है़ं

दिल्ली में विलय की जमीन तैयार हो चुकी है़ 17 फरवरी को रांची में आयोजित मिलन समारोह में श्री मरांडी भाजपा में अपनी पार्टी झाविमो का विलय करेंगे़ इस मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और ओम माथुर सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे. सूत्राें के अनुसार, पार्टी ने झारखंड भाजपा को इसकी तैयारी का निर्देश दे दिया है. भाजपा भव्य आयोजन की तैयारी में है. सूत्राें के अनुसार, इसमें पार्टी के सभी सांसदाें-विधायकों, पदाधिकारियों को रहने का निर्देश दिया गया है. इस बीच रविवार देर शाम श्री मरांडी दिल्ली से रांची लाैट आये.

श्री मरांडी ने दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और ओम माथुर से विलय के सभी पहलुओं पर चर्चा की. विलय को लेकर तकनीकी मामले पर भी नेताओं ने चर्चा की़

ज्ञात हो कि मई 2006 में श्री मरांडी ने भाजपा से अलग होकर अपनी पार्टी बनायी थी़ श्री मरांडी ने झाविमो का गठन कर राज्य की राजनीति में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करायी थी. पिछले विधानसभा चुनाव से ही श्री मरांडी के भाजपा में जाने की चर्चा चल रही थी. पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री व संगठन मंत्री पहुंचे रांची : भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व राज्यसभा सांसद अरुण सिंह व राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच रांची पहुंचे हैं.

रांची में समाराेह, तैयारी में जुटी भाजपा

11 फरवरी को झाविमो कार्यकारिणी की बैठक विलय पर लगेगी मुहर

झाविमो की नयी कार्यकारिणी की बैठक 11 फरवरी को राजधानी में बुलायी गयी है़ कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा में विलय का प्रस्ताव पारित किया जायेगा़ कार्यकारिणी के सदस्य विलय पर मुहर लगायेंगे़ इसके बाद भाजपा नेतृत्व को विलय का प्रस्ताव भेजा जायेगा़ जिस पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अपनी सहमति प्रदान करेंगे़

Share this Post On:
scroll to top