कांग्रेस सरकार की पट्टा नीति का दोहरा चेहरा हुआ उजागर , शहर के बाद गांव में भी बेदखली की तैयारी-अखिलेष सोनी

akhilesh-soni-press.jpg


अंबिकापुर– नजूल भूमि पर काबिज लोगों को पट्टा देने के नाम पर कांगेस सरकार की पट्टा नीति का दोहरा चेहरा अब जनता के सामने उजागर हो चुका है पिछले दिनों नगर के नजूल भूमि पर काबिज 500 सौ से ज्यादा लोगों को बेदखली को नोटिस देकर सरकार ने जनता के साथ छल किया है यह बयान आज भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेष सोनी ने नजूल भूमि पर काबिज लोंगों को तहसीलदार द्वारा भूमि खाली करने के नोटिस दिये जाने पर उत्पन्न विवाद के बाद दी है। उन्होने अपने बयान में कहा है कि नगरीय निकाय चुनाव से पूर्व बड़ी जोर शोर से कांग्रेस सरकार ने चुनाव जीतने के बाद नजूल भूमि का पट्टा देने की बात कही थी तथा उसके लिये प्रषासनिक अमले लगाकर लोंगो की जमीने भी नापीं थी परंतु चुनाव खत्म होते ही कांग्रेस के पट्टा नीति की सच्चाई बेदखली के नोटिस के रूप में सामने आ गई। नगरीय निकाय चुनाव में आम जनता कांग्रेस सरकार के छलावे में आ गई तथा कई जगहों पर कांग्रेस जीत भी गई परंतु चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस सरकार का यह रवैया न सिर्फ घोर आपतिजनक है बल्कि जनता के साथ कुठाराघात है। कुछ सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब कांग्रेस सरकार शहर के बाद गांव में भी पंचायत चुनाव पश्चात् सरकारी जमीन पर काबिज लोंगों को बेदखली का नोटिस देने के तैयारी में है। आगे अपने बयान में उन्होनें कहा है कि सरकारी अमले द्वारा नजूल भूमि पर काबिज गरीब लोंगों को जारी किये गये नोटिस में 150 गुना अधिक रेट लगाकर 30 से 35 लाख रूपये तक पटाये जाने की बात कही गई है तथा नही पटाने पर तत्काल भूमि खाली करने की धमकी भी दी गई है। दैनिक मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले सैंकड़ो परिवारों के पास ऐसी नोटिस भेजी गई है जिसे पढ़ कर गरीब परिवारों की नीदें उड़ गई है तथा लोग भयाक्रांत हैं।
भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस सरकार से मांग करती है कि चुनाव पूर्व नजूल भूमि पट्टा देने के अपने वादे को तत्काल पूरा करें तथा जनता को नोटिस देकर उनमें ड़र फैलाना बंद करें। भारतीय जनता पार्टी आम जनता के साथ है तथा किसी भी गरीब का घर टूटने नही देगी।

Share this Post On:
scroll to top