99.95 पर्सेंटाइल के साथ शाश्वत बने जेईई के स्टेट टॉपर

Screenshot_1-8.jpg

रायपुर. देश भर के आईआईटी और एनआईटी में दाखिले के लिए होने वाली परीक्षा ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) में भिलाई के शाश्वत ने टॉप किया है। 99.95 पर्सेंटाइल के साथ शाश्वत स्टेट टॉपर बन गए हैं। नतीजों के सामने आने के बाद मीडिया से बात-चीत में उन्होंने बताया कि टीचर्स की मदद से उन्होंने सवालों की खूब प्रैक्टिस की। एक ही जैसे सवालों को कई-कई अलग तरह से सॉल्व करने की हैबिट से कॉन्सेप्ट बिल्कुल क्लीयर रहा जिसका फायदा उन्हें एग्जाम में मिला। अपने शैड्यूल के बारे में शाश्वत ने बताया कि, पढ़ाई को टाइम रूटीन में बांधने से वो एक काम बन जाती है। जब हम पढ़ाई को अपनी हॉबी बना लेते हैं तो कामयाब होने के चांसेस बढ़ जाते हैं। मैंने पढ़ाई को हॉबी बनाकर ही तैयारी की।

जेईई मेन के नतीजे शुक्रवार देर रात जारी किए गए। शाश्वत के पिता संदीप चक्रबर्ती भिलाई स्टील प्लांट में मटेरियल एंड मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के जीएम है। शाश्वत की मां डॉ. सोनाली चक्रबर्ती महिलाओं का उत्थान करने वाली फाउंडेशन स्वयंसिद्धा की डायरेक्टर हैं। इस परीक्षा में स्टेट के अन्य टॉपर में दीप बंसल भी शामिल हैं। दीप का पर्सेंटाइल 99.90 रहा है। दीप ने बताया कि 10 के बाद से ही उन्होंने तैयारी शुरू कर दी थी। तब हालांकि उन्हें आईआईटी के बारे में जानकारी नहीं थी, टीचर्स की मदद से उन्होंने कामयाबी हासिल की। मौजूदा समय में तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स के लिए दीप ने कहा कि मॉडल पेपर ज्यादा से ज्यादा सॉल्व करने की आदत डालना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि पैरेंट्स ने उन्हें पढ़ाई में दिक्कत न हो इसके लिए घर भी बदल दिया था।

प्रभावित क्षेत्रों के बच्चों को भी मिली कामयाबी
धारियों वाली टी शर्ट में साथियों के साथ सुनील
नक्सल प्रभावित और जनजातिय क्षेत्र के बच्चों ने भी इस परीक्षा में कामयाबी हासिल की है। इस वर्ग के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे रायपुर प्रयास आवासीय विद्यालय पढ़ रहे 81 में से 55 छात्रों ने जेईई मेन में क्वालीफाई कर लिया है। इस सेंटर के सुनील केरकेट्‌टा ने 97.84 पर्सेंटाइल हासिल किया है। सामान्य परिवार का सुनील मूलत: जशपुर के आदिवासी क्षेत्र का रहने वाला छात्र है। इसी संस्थान में पढ़ने वाली 42 छात्राओं में से 19 ने क्वालीफाई किया है।

Share this Post On:
scroll to top