सहकारिता विभाग के अधिकारियों की जानकारी में धान का अवैध भण्डारण कराया जाये तो दर्ज करायें FIR – आर पी मंडल

metting-2.jpg

पीडब्ल्यूडी के सीई को शो कॉज नोटिस

अम्बिकापुर – छतीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव आर पी मंडल की अध्यक्षता में धान खरीदी की तैयारियों के संबंध में आज प्रथम संभाग स्तरीय बैठक कलेक्टोरेट सभा कक्ष अम्बिकापुर में सम्पन हुआ। इस दौरान गृह विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू, स्वास्थ्य सचिव श्रीमती निहारिका बारीक सिंह, महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी, मार्कफेड के संचालक श्रीमती शम्मी आबिदी उपस्थित थे।

मुख्य सचिव आर पी मंडल ने कहा कि 1 दिसंबर से प्रदेश में शुरू हो रहे धान खरीदी शासन एवं प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है। इस चुनौती को स्वीकार करते हुए किसानों को धान बेचने में किसी प्रकार की असुविधा न हो इसको भी ध्यान में रखकर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सबसे ज्यादा दर पर धान की खरीदी और बोनस भी दिया जा रहा है। पड़ोसी राज्यों से यहॉ अवैध रूप से धान लाये जाते है। कोचियों पर नकेल कसने के लिए सीमाओं पर चौकसी बढ़ाये और उन पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने के लिए अभियान चलाएं। उन्होंने कहा कि हर हाल में कोचियों के नेटवर्क को ध्वस्त करें। श्री मंडल ने कहा कि मंडी प्रबंधक या सहकारिता विभाग के अधिकारियों की जानकारी में धान की अवैध भण्डारण पाया जाये तो मण्डी प्रबंधक के साथ ही सहकारिता विभाग के अधिकारियों पर भी एफआईआर दर्ज करायें।

श्री मण्डल ने कहा कि निगरानी दलों द्वारा की जा रही जॉच अभियान में दलों को रोटेशन के अनुसार ड्यूटी लगायें ताकि कोचियों के साथ उनकी मिली भगत न हो सके। उन्होंने कहा कि कोचियोंं के पास किसी भी हाल में सील लगा हुआ बारदाना न हों, उपार्जन केन्द्रों में हर दिन दो बार भौतिक सत्यापन करायें। उन्होंने कहा कि धान खरीदी के दौरान किसानों के द्वारा उपार्जन केन्द्रों में पहले से ही धान लाया जाता है, जिससे कोचियों को धान की मिलावट करने का मौका मिल जाता है। इसे रोकने के लिए किसानों को टोकन देने के बाद ही उपार्जन केन्द्रों में धान का भण्डारण करायें। उन्होंने संभाग अंतर्गत जिलों के लिए निर्धारित धान जब्ती के लक्ष्य को आगामी पॉच दिन में प्राप्त करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिये।

तीन हजार नये गोठान बनेगें- बैठक में बताया गया कि प्रदेश में तीन हजार नये गौठान बनाये जाएंगे। इन गोठानों के लिए स्थल चयन आगामी पन्द्रह दिन में करने के निर्देश दिये गये। गोठान के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ ही प्रमुख मार्गों के आस-पास के जमीन को प्राथमिकता देने कहा गया। इसके साथ ही जल संरक्षण के लिए एक हजार नालों का चयन कर नाला बंधान हेतु निर्देशित किया गया।

पैच निर्माण गुणवत्तापूर्ण हो- मुख्य सचिव श्री आरपी मण्डल ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सड़कों के पैच निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें ताकि बारिश तक सुलभ आवागमन हो सके। उन्होंने सड़कों के मरम्मत हेतु जिलेवार प्राप्त आबंटन के अनुसार सड़कों के पैच रिपेयरिंग में तेजी लाने के निर्देश दिये। इसी प्रकार नगर निगम तथा नगरीय निकायों में स्वच्छता एवं विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को प्रतिदिन वार्डों में भ्रमण कर साफ-सफाई के जायजा लेने के निर्देश दिये।

गृह विभाग के प्रमुख सचिव श्री सुब्रत साहू ने कहा कि कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक आपस में समन्वय स्थापित कर अवैध धान परिवहन पर सख्ती से कार्यवाही करें। जब्ती की कार्यवाही होने पर बेहिचक एफआईआर भी दर्ज करायें। उन्होंने कहा कि वन विभाग के अधिकारी बिचौलियों पर कड़ी नजर रखने के लिए प्रमुख मार्गों के अलावा वनों से गुजरने वाले छोटे रास्तों में भी जॉच नाका सक्रिय करें तथा बिचौलियों की जानकारी तत्काल पुलिस को दें।

स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारीक सिंह ने कहा कि टीकाकरण अभियान में तेजी लायें और आंगनबाड़ी केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का नियमित निरीक्षण भी करें। उन्होंने कहा कि एमआर एवं रोटा वाईरस टीकाकरण अभियान के लिए विभागीय अमलों को समय-समय पर प्रशिक्षण दें। दवाईयों की खरीदी के लिए शासकीय नियमों का पूर्णतः पालन करें। महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने कहा कि सुपोषण के लिए भोजन देना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि संतुलित भोजन देने की पहल करें। उन्होंने कहा कि बच्चों को साफ सफाई तथा नियमित भोजन करने के प्रति जागरूक करें।

पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजिनियर को शो कॉज नोटिस- बैठक में अनुपस्थित रहने तथा बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर रहने के कारण लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता श्री विजय कुमार भतपहरी को कारण बताओं सूचना जारी किया गया।

Share this Post On:
scroll to top