3 महीने 11 दिन बाद आया फैसला..आरोपी को 5 साल की जेल..नाबालिग से भारी पड़ा छेड़छाड़

ARTICLE TOP AD

रामानुजगंज— न्यायालय ने 3 महीने 11 दिन की सुनवाई के बाद 11 साल की नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को पांच साल की सजा का ऐलान किया है। कोर्ट ने आरोपी को दस हजार पांच सौ रूपए का अर्थदण्ड भी लगाया है।

       रामानुजगंज अपर जिला एवं सत्र न्यायालय फास्ट ट्रैक विशेष न्यायालय ने पाक्सो एक्ट के आरोपी के खिलाफ सजा मुकर्रर किया है। न्यायधीश वंदना दीपक देवांगन ने 11 वर्षीय नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी अयूब खलीफा को पांच साल 6 महीने की सजा का एलान किया है। कोर्ट ने आरोपी पर दस हजार पांच सौ रूपए का अर्थदण्ड भी लगाया है। फैसला 3 महीने 11 दिन की सुनवाई के बाद सामने आया है।

          जानकारी देते चलें कि आरोपी अयूब खलीफा वार्ड नम्बर 1 रामानुजगंज का रहने वाला है। दर्जी का काम करता है। 6 अक्टूबर की शाम नाबालिग पीड़िता अपनी मां और बुआ के कपड़े लेने अयूब खलीफा के दुकान गयी थी। इस दौरान नाबालिग बच्ची को अकेला पाकर आरोपी ने दुकान में पीड़िता के साथ छेड़छाड़ किया। अश्लील हरकतें भी की। 

        पीड़िता रोते हुए घर पहुंची। घरवालों को अयूब खलीफा की सारी हरकतों के बारे में बताया। पीड़िता के पिता की शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज किया। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। घटना के बाद समाज ने आरोपी को समाज से बेदखल भी कर दिया। 

        मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हुई। अपर सत्र न्यायाधीश वंदना दीपक देवांगन ने मामले कि गंभीरता को देखते हुए दोनों पक्षों की दलीलों को सुना। 3 महीने 11 दिनों के भीतर आरोपी अयूब खलीफा को पाक्सो एक्ट के तहत 5 साल 6 महीने की सजा का एलान किया। साथ ही आईपीसी की धारा 341 के अर्थदण्ड भी लगाया।