शहर के गंगापुर स्थित शासकीय शराब दुकान के पास से हटाया गया चखना दुकानपुलिस व आबकारी की करवाई, चखना दुकानों को आग के हवाले कर किया गया नष्ट

28
ARTICLE TOP AD


अंबिकापुर। अम्बिकापुर शहर के गंगापुर में स्थित शासकीय अंग्रेजी शराब दुकान के आस पास लंबे समय से संचालित अवैध चखना दुकानों पर पुलिस और आबकारी विभाग ने मिलकर बड़ी कार्रवाई की है। शराब दुकान के आसपास स्थित चखना के दुकानों को आबकारी व पुलिस टीम द्वारा आग के हवाले कर पूरी तरह नष्ट कर दिया गया है।  दरअसल शुरू से ही गंगापुर स्थित यह अंग्रेजी शराब दुकान विवादों में रहा है। इस शराब दुकान को हटाने  की मांग लगातार स्थानीय लोग कर रहे है। शुक्रवार की रात अचानक गांधीनगर थाना प्रभारी अलरीक लकड़ा व आपकारी उपनिरीक्षक धर्मेंद्र शुक्ला दल बल के साथ गंगापुर शराब दुकान पहुंची और शराब दुकान के आसपास संचालित अवैध चखना सेंटरो पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की गई। लोगों द्वारा बांस बल्ली गाड़ कर बनाए गए अवैध चखना दुकान को आग के हवाले कर दिया गया। बताया जा रहा है कि अवैध चखना दुकानों में लोगों को बैठाकर शराब पिलाई जाती थी। इस बात की सूचना स्तानीय लोगों द्वारा कई बार पुलिस से भी की गई थी। शराब पीने के बाद शराबियों द्वारा महिलाओं व युवतियों से छेड़छाड़ भी की जाती थी। वहीं इस कार्रवाई से स्थानीय लोग काफी खुश नजर आये।
परेशान थे स्थानीय लोगपुलिस व आबकारी विभाग द्वारा की गई इस कार्रवाई से स्थानीय लोगों में काफी उत्साह है। स्थानीय महिलाओं का  कहना है ये कार्रवाई बहुत पहले की जानी थी। चखना दुकानों और यहाँ बैठ कर शराब पीने वाले शराबियों से स्थानीय लोगों बहुत परेशान थे। बीती रात शराब के नशे में एक कार चालक के द्वारा सड़क पर बैठी गाय को ठोकर मार मौके से फरार हो गया था,जिससे गाय की मौके पर ही मौत हो गई थी। इस घटना के बाद स्तानीय लोगो ने विरोध शुरू कर दिया था। 
आगे भी की जाएगी करवाईवही पुलिस और आबकारी अधिकारी द्वारा की गई कार्यवाही  की सूचना चखना दुकानों को पहले ही दे दी गई थी। पर ये समय रहते अपने दुकानों को नहीं हटाया था। मजबूरन पुलिस व आबकारी विभाग को इस तरह की बड़ी कार्रवाई करनी पड़ी। इस मामले में आपकारी उपनिरीक्षक धर्मेंद्र शुक्ला का कहना है कि शराब दुकान के 500 मीटर की दूरी तक कोई भी चखना दुकान संचालित नहीं की जा सकता है। संचालित करने वालों पर कार्यवाही की जाएगी।
बात करने के नाम पर मोबाइल लेकर युवक हुआ फरारअंबिकापुर। बात करने के बहाने अज्ञात व्यक्ति ने मरीज के परिजन से मोबाइल मांग कर फरार हो गया। मरीज के परिजन ने इसकी शिकायत पुलिस सहायता केंद्र में की है। पुलिस मामले की जांच शुरू कर दी है।जानकारी के अनुसार योगेश राजवाड़े पिता दिल्लू राम राजवाड़े विश्रामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम शिवनंदन पुर का रहने वाला है। 3-4 दिन पूर्व योगेश अपने पिता कोई राज्य के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया है। वह शनिवार की सुबह अस्पताल के पास टहल रहा था तभी एक अज्ञात व्यक्ति उसके पास आया और इमरजेंसी बात करने के लिए योगेश से मोबाइल मांगा। योगेश उसके झांसे में आकर मोबाइल दे दिया। अज्ञात व्यक्ति मोबाइल से बात कर रहा था और अचानक मोबाइल लेकर फरार हो गया। योगेश ने इसकी शिकायत पुलिस सहायता केंद्र में की है। पुलिस आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।