ढाई-ढाई साल के मुद्दे पर टीएस सिंहदेव का बड़ा बयान, बोले-बंद कमरे की बातें सार्वजनिक नहीं होती

793
ARTICLE TOP AD


स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री के पद को लेकर एक बार फिर बड़ा बयान.

भोपालः छत्तीसगढ़ में ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री के पद का मुद्दा चर्चा में बना रहता है. खास बात यह भी है कि छत्तीसगढ़ के नेताओं के बयान इस मुद्दे को चर्चा में बनाए रखते हैं. मध्य प्रदेश पहुंचे छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने एक बार बड़ा बयान दिया. इसके अलावा सिंहदेव ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी और छत्तीसगढ़ के कवर्धा में हुई घटनाओं पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी.  
थोड़ा इंतजार करना चाहिए
दरअसल, भोपाल में जब छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री पद को लेकर कांग्रेस आलाकमान से क्या बातचीत हुई इस पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ”बंद कमरे में जो बात होती है उसे सार्वजनिक नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा कि हर दल में परिवर्तन की परिस्थिति बनी रहती है, हमने कई राज्यों में नेतृत्व परिवर्तन देखा है. थोड़ा इंतजार करना चाहिए, क्योंकि हाईकमान को स्पष्ट निर्णय लेने में समय लगता है. किसी भी तरह का बदलाव हल्का काम नहीं होता है.” 

वहीं लखीमपुर खीरी में हुई घटना के बाद पीड़ितों को योगी सरकार द्वारा दिए गए मुआवजे को लेकर टीएस सिंहदेव ने कहा कि ”यूपी में मुआवजा वहां की स्थिति के हिसाब से दिया गया, कवर्धा की घटना को लेकर उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के हिसाब से मुख्यमंत्री फैसला लेंगे वो समझदार हैं. छत्तीसगढ़ सरकार मुआवजा जो पहले देती थी उसे भी बढ़ाया गया है.”
विधायकों के दिल्ली दौरे से भी उठा था मुद्दा
टीएस सिंहदेव का यह बयान एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया है. क्योंकि हाल ही में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कई विधायकों ने एक साथ कई दिनों तक राजधानी दिल्ली में डेरा जमाए रखा था. जिसे प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन से भी जोड़कर देखा जा रहा था. हालांकि बाद में सभी विधायक दिल्ली से वापस रायपुर लौट आए और यह मुद्दा फिलहाल शांत नजर आ रहा था. लेकिन अब टीएस सिंहदेव ने एक बार फिर इस मुद्दे पर बड़ा बयान दे दिया है. 
बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार में बीते काफी समय से उठा-पटक का दौर चल रहा है. ऐसी चर्चाएं हैं कि ढाई-ढाई साल सीएम पद को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. हालांकि दोनों ही नेता ढाई-ढाई साल के फार्मूले की बात से इंकार कर चुके हैं. बीते दिनों भी भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव ने दिल्ली पहुंचकर पार्टी हाईकमान से बात की थी

साभार – जी मीडिया ब्‍यूरो