शादी का झाँसा दे नगर सैनिक ने किया महिला आरक्षक का शारीरिक शोषण,गर्भवती होने पर पर कराया दो बार गर्भपात

221
ARTICLE TOP AD


सीतापुर:-शादी का झाँसा दे महिला आरक्षक का दैहिक शोषण करने वाले नगर सैनिक को पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।आरोपी नगर सैनिक शादीशुदा है एवं विगत दो सालों से महिला आरक्षक को अपने प्रेमजाल में फंसाकर दैहिक शोषण करता रहा। इस बीच गर्भवती होने पर नगर सैनिक ने धोखे से महिला आरक्षक का दो बार गर्भपात करा दिया।दो साल तक शारीरिक शोषण के बाद नगर सैनिक द्वारा शादी से मना करने के बाद पीड़िता ने उसके विरुद्ध थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दिया।जिसके आधार पर पुलिस ने नगर सैनिक के विरुद्ध बलात्कार का मामला दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।


इस संबंध में प्राप्त जानकारी अनुसार सुंदरनगर निवासी 32 वर्षीया महिला आरक्षक एवं ग्राम ढेलसरा निवासी 35 वार्षिय नगर सैनिक रमेश अगरिया दोनों सीतापुर थाने में पदस्थ है।विगत कई वर्षों से एक ही थाने में पदस्थ होने के कारण दोनों में अच्छी जान-पहचान हो गई थी जिसका फायदा उठाकर रमेश महिला आरक्षक के घर आने-जाने लगा था।इसी दरम्यान दो साल पहले रमेश रात को शराब के नशे में महिला आरक्षक के घर पहुँचा और तबीयत खराब होने का बहाना बनाकर रात वही गुजारने की बात कही।महिला आरक्षक उसकी नियत नही समझ पाई और घर के एक कमरे में रुकने की इजाजत देकर अपने बेडरूम में सोने चली गई।इसी बीच देर रात रमेश उसके रुम में पहुँचा और चिकनी चुपड़ी बाते कर उसे अपने प्रेमजाल में फँसाते हुये शादी का झाँसा दे शारीरिक संबंध बना लिया।इन दो सालों में शारीरिक संबंध की वजह से महिला दो बार गर्भवती हो गई जिसे रमेश ने धोखे से दवा खिलाकर गर्भपात करा दिया जिसको लेकर दोनों के बीच काफी कहासुनी भी हुई थी।चूंकि रमेश शादीशुदा और बाल-बच्चेदार था इसलिये उसने धीरे-धीरे महिला आरक्षक से दूरी बनानी शुरू कर दी।पीड़िता ने जब रमेश को थाने में रिपोर्ट कराने की धमकी दी तो उसने उसे काफी डराया धमकाया।महिला आरक्षक द्वारा रिपोर्ट करने की धमकी के बाद रमेश आना-जाना करने लगा और उनके बीच फिर से संबंध कायम हो गए।ये सिलसिला काफी दिनों तक चला अंत मे महिला आरक्षक ने जब शादी करने की बात कही तब उसने पहली पत्नी से तलाक लेने की बात कह शादी की बात टालता रहा।महिला आरक्षक को रमेश की बातो पर भरोषा नही रहा और वह शादी हेतु दबाव बनाने लगी किंतु रमेश पर इसका कोई असर नही हुआ और वह महिला आरक्षक से पीछा छुड़ाने दूरी बनाने लगा।शादी का झाँसा देकर दो सालों तक शारीरिक शोषण करने के बाद रमेश के इस व्यवहार से महिला आरक्षक काफी आहत थी वो अपने आपको ठगा सा महसूस करने लगी।इस संबंध में उसने थाना प्रभारी को अवगत कराते हुए रमेश के विरुद्ध थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दिया।महिला आरक्षक की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी नगर सैनिक रमेश के विरुद्ध धारा 376(2Xn),313 के तहत अपराध दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया है।


महिला आरक्षक की संपत्ति पर थी नगर सैनिक की नजर:-पति की जगह अनुकंपा नियुक्ति पाने वाली महिला आरक्षक की संपत्ति पर नगर सैनिक की नजर गड़ी हुई थी।पति की मौत के बाद महिला आरक्षक को पति के हिस्से का लाखो रुपये मिले थे जिसे नगर सैनिक एन केन प्रकारेण हथियाना चाहता था।सीमित वेतन के बाद भी नगर सैनिक रमेश ने कुछ माह पहले एक नई स्कोर्पियो वाहन भी खरीदी थी।जिसके बारे में कहा जाता है कि शादी का झाँसा देकर नगर सैनिक ने महिला आरक्षक की बदौलत ही इतनी महँगी वाहन खरीदी है।