नगर के आसपास के जंगलों में हो रही प्रतिदिन अंधाधुन पेड़ की कटाई, नगर के पर्यावरण प्रेमी है चिंतित, वन विभाग को सख्ती से है रोक लगाए जाने की है आवश्यकता…

127
ARTICLE TOP AD

रामानुजगंज(विकाश कुमार केशरी)- एक ओर विगत दिनों नगर के आसपास के जंगलों में आग लगने से हजारों पेड़ जलकर खाक हो गए वही अब बड़ी संख्या में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई प्रतिदिन हो रही है जिस पर वन विभाग को सख्ती से रोक लगाए जाने की आवश्यकता है पेड़ों की हो रही अंधाधुंध कटाई से नगर के पर्यावरण प्रेमी बहुत ही चिंतित है। यदि सख्ती से पेड़ों की अंधाधुंध कटाई पर रोक नहीं लगाई जाएगी तो नगर के आस पास के जंगल एवं पहाड़ में ठूठ ही ठूठ सिर्फ नजर आएंगे वैसे भी कई पहाड़ पेड़ विहीन अंधाधुंध कटाई कारण हो गए हैं।
गौरतलब है कि रामानुजगंज का तापमान भीषण गर्मी में भी नगर के आसपास के जंगलों एवं पहाड़ों की हरियाली राहत देती थी परंतु विगत कुछ वर्षों से लगातार पेड़ों की अवैध कटाई ने लोगों को चिंतित कर दिया है पेड़ों की कटाई लगातार बढ़ते जा रही हैं कुछ दिन पूर्व जहां नगर के आस पास के जंगल में जिसमें पहाड़ी मंदिर के समीप स्थित जंगल एवं जलकेश्वर पलटन घाट में भीषण आग लगी जिससे हजारों हजार पेड़ जलकर खाक हो गए वहीं अब लगातार पहाड़ी मंदिर के आसपास के जंगल एवं पलटन घाट के आसपास के जंगल में अवैध कटाई अंधाधुन हो रही है। जिसकी प्रत्यक्ष गवाही सुबह घूमने जाने वालों के सामने प्रस्तुत होती है जब बड़ी संख्या में लोग जंगलों में जाते हैं एवं हरे भरे पेड़ों को काटकर आते हुए देखे जा सकते हैं वन विभाग से लोग अपेक्षा कर रहे हैं कि इस पर सख्ती से कार्यवाही करें ताकि पेड़ों का अंधाधुंध कटाई रुक सके। पर्यावरण प्रेमी अजय गुप्ता रमेश गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता,सुनील गुप्ता अशोक गुप्ता ,मुकेश रंजन अग्रवाल ने कहा कि जिस प्रकार से पहाड़ी मंदिर के आसपास लगातार पेड़ों की अवैध कटाई हो रही है यह हम सब के लिए चिंता का विषय है तत्काल वन विभाग को इस ओर कड़ाई से कार्यवाही करने की जरूरत है।

वन वाटिका एवम पहाड़ी मंदिर परिसर में अवैध कटाई करने वालों का लगा रहता है झुंड……. सुबह 4 बजे से ही लोग वन वाटिका की ओर घूमने जाना प्रारंभ कर देते हैं ऐसे में जितने जाने वाले लोग हैं प्रत्येक लोग का कहना है कि जंगल से दर्जनों टांगी की आवाज पेड़ काटने से सुनाई देती है कई बार सुबह घूमने जाने वाले लोग इसका विरोध करते हैं परंतु अवैध वनों की कटाई करने वाले लड़ाई झगड़ा पर उतारू हो जाते हैं। वन विभाग को तत्काल इस ओर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।

लंबे समय से हो रही है वनों की अवैध कटाई……. ऐसा नहीं है कि दो-चार दिनों से या दो चार महीनों से वनों की अवैध कटाई हो रही है वरन लंबे समय से वनों की अंधाधुंध कटाई चली आ रही है जो आज भी जारी है वनों की कटाई को रोके जाने की आवश्यकता है ही वही इसके लिए लोगों को जागरूक भी किए जाने की आवश्यकता है।

कई पहाड़ हुए पेड़ विहीन…….. नगर के आसपास पहाड़ों की हरियाली देखते बनती थी भीषण गर्मी में भी नगर का तापमान सामान्य बना रहता था परंतु अब ऐसी स्थिति हो गई है कि कई पहाड़ पेड़ विहीन हो गए हैं ऐसे में अब इन पहाड़ों पर नए सिरे से पौधा लगाए जाने की आवश्यकता है।

इस संबंध में रेंजर संतोष पांडे ने कहा कि मैं खुद मौके पर जाकर देखता हूं वनों की कटाई करने से लोगो को रोका जाएगा एवं सख्त कार्यवाही की जाएगी।