*देश की 65% युवा आबादी को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से वंचित रखना मोदी सरकार का था गलत फैसला जिसे आज लेना पड़ा वापस*

1
ARTICLE TOP AD

रायपुर 19 अप्रैल 2021। केंद्र सरकार द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के टीकाकरण को लेकर दिए गए सुझाव के अनुरूप टीकाकरण की आयु 18 वर्ष किए जाने पर प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है  कि इन सुझावों के पीछे ठोस वैज्ञानिक कारण थे। स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन आज पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर अपनी खीज निकाली और तमाम वाहीतबाही की लेकिन अंततः डॉ मनमोहन सिंह द्वारा देश हित में पूरी सदाशयता के साथ दिए गए सुझाव को अंततः केंद्र सरकार को मानना पड़ा। प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कल ही डॉक्टर मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को टीकाकरण को लेकर पत्र लिखा था जिस पर प्रधानमंत्री मोदी का उत्तर तो नहीं आया लेकिन स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने जो इस्त्र हीन पत्र लिखा उसकी पूरे देश में व्यापक आलोचना होती रही। अंततः शाम को यह फैसला आया है जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह जी के पत्र और पूर्व में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस नेता राहुल गांधी और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सुझाव को केंद्र सरकार को स्वीकार करना पड़ा। यह सुझाव और टीकाकरण की आयु घटाने की मांग जनहित में की जा रही मांग थी और कोई विकल्प न होने पर अंततः मोदी सरकार को इसे मानना पड़ा। अंततः अभिमान की हार हुई। देश की 65% जनसंख्या को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से वंचित रखना मोदी सरकार का गलत फैसला था जिसे आज वापस लेना पड़ा।