शटर बन्द कर बेच रहे थे सामान, आधा दर्जन दुकानों को किया गया सील रायपुर निगम ने की कार्यवाही

1
ARTICLE TOP AD

रायपुर। रायपुर नगर निगम की सभी अलग अलग जोनों में कोरोना प्रोटोकाल नियमों के तहत आज अलग अलग मामलों में कार्यवाही की गई। लालपुर फल मार्केट को आज सुबह पुलिस की मदद से बन्द करवा दिया गया। वहीं शटर बन्द कर सामान बेच रहे आधा दर्जन दुकानदारों पर भी कार्यवाही करते हुए उनकी दुकानों को सील कर दिया गया। निगम के जोन क्रमांक 10 के कार्यपालन अभियंता श्री शीबू पटेल ने बताया कि लालपुर स्थित थोक फल मार्केट में आज फल बेचने वाले विक्रेताओं की भीड़ लग गई थी। कुछ लोग मार्केट के बाहर भी सड़क पर बैठकर फल बेचने लगे थे। पुलिस की मदद से मार्केट के बाहर के दरवाजे को बन्द कर सील कर दिया गया। वहीं सड़क पर बैठे विक्रेताओं को बैठकर व्यवसाय नहीं कर ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर फल या सब्जी की हिदायत दी गई। इधर निगम के जोन क्रमांक 2 द्वारा मौदहापारा स्थित एक दुकान को सील किया गया। जोन के नगर निवेश विभाग के उप अभियंता श्री सोहन गुप्ता ने बताया कि दुकानदार बन्द शटर के भीतर से सामान बेच रहा था। क्षेत्र में जो ठेले वाले एक जगह खड़े होकर व्यवसाय कर रहे थे, उन्हें भी एक जगह खड़े ना रहकर घूम घूम कर व्यवसाय करने की समझाइश दी गई। जोन दो के इंसिडेंट कमांडर द्वारा डब्ल्यू आर एस वर्क शाप के चीफ को आज दूसरी बार नोटिस भेजी गई। उनसे कहा कि वहां के कर्मियों की कोरोना संक्रमित होने की खबरें लगातार आ रही है। इस वजह से कर्मचारियों को सीमित संख्या में बुलाई जाए। साथ ही कार्य शुरू करने से पहले उनके स्वास्थ्य की जांच की जाए। इधर निगम के जोन क्रमांक 3 के उप अभियंता सुश्री निशा निराला ने बताया कि बीटीआई ग्राउंड शंकर नगर, मोवा और पंडरी रोड पर सड़क पर बैठकर फल और सब्जी बेच रहे थे। उन्हें ठेलों लगाकर घूम घूम कर बेचने की हिदायत देकर हटाया गया। मोवा में एक सब्जी दुकान को सील भी कर दिया गया। इसी तरह की कार्यवाही जोन क्रमांक 5 द्वारा डंगनिया और चंगोराभाठा के दो दुकानदारों के खिलाफ भी की गई। जोन के जोन कमिश्नर श्री चंदन शर्मा ने बताया कि दुकानदार दुकान की शटर को थोड़ी थोड़ी देर में सामान बेच रहे थे। निगम प्रशासन द्वारा विक्रेताओं से लगातार अपील की जा रही है कि ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर व्यवसाय करें ताकि कहीं पर भीड़ इकट्ठी ना हो सके। व्यवसायी छोटे छोटे चौपहिया वाहनों में लेकर अपनी सेवाएं डोर टू डोर भी दे सकते हैं। फल और सब्जी विक्रेताओं को भी इसी तरह की समझाइश लगातार दी जा रही है।