आईसीयू में मरीज के साथ मारपीट के मामले में हो कार्यवाही: अनुराग 

ARTICLE TOP AD

अम्बिकापुर – मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आईसीयू में नर्स और डॉक्टर पर एक बार फिर मरीज से मारपीट का आरोप लगा है मरीज के परिजन ने पुलिस अधीक्षक अंबिकापुर से अपराध दर्ज करने की मांग की है   जिसके बाद मामला राजनितिक तूल पकड़ता जा रहा है। इस घटना के सामरे आने के बाद भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव युवती के घर पहुंचे और घटना की जानकारी लेने के साथ ही मामले में कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

विदित हो कि शहर के भ_ापारा निवासी  शोभा चौधरी आ. सीताराम चौधरी को श्वांस में लकलीफ होने पर 17 फरवरी को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। युवती की हालत देखते हुए डॉक्टरों ने आईसीयू में भर्ती तो कर लिया लेकिन यहां मरीज का उपचार करने के बजाए डॉक्टर व नर्स ने असंवेदनशीलता की सारी हदें पार करते हुए उसके साथ अभ्रद टिप्पणी के साथ मारपीट की थी। आवाज सुनकर वार्ड में पहुंचे परिजन ने उसे गंभीर स्थिति में लेकर दूसरे अस्पताल गए थे व उपचार के बाद आईसीयू में भर्ती युवती से मारपीट के मामले में परिजन ने एसपी से शिकयत की थी। पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है।

वहीं इस मामले को लेकर अस्पताल प्रबंधन के अधिकारी भी गैर जिम्मेदारना बयान दे रहे हैं। युवती के साथ आईसीयू में हुई इस घटना के बाद मामला उजागर होने पर भाजपा प्रदेश मंत्री अनुराग सिंहदेव युवती के घर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने बताया कि यह बेहद गंभीर मामला है। आईसीयू में भर्ती एक मरीज के साथ मारपीट का यह प्रदेश का पहला मामला है। उन्होंने बताया कि युवती स्नोफीलिया से ग्रसित थी इसलिए उसे अस्पताल में भर्ती किया गया था और उसे ऑक्सीजन दिया जा रहा था। गलती से  युवती का हाथ नर्स के मोबाइल पर लग गया और मोबाइल गिरने पर उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिले में इस तरह की घटना हो रही है और वे इससे अनजान हैँ युवती स्वयं प्राइवेट क्लिनिक में नर्स है व मानसिक रूप से पूरी तरह फिट है। अस्पताल प्रबंधन ने उसे मानसिक रूप से कमजोर बताकर उसपर लांछन लगाने का काम किया है। आधे घंटे के अंदर डॉक्टरों ने यह कैसे तय कर लिया कि मरीज की मानसिक हालत ठीक नहीं है। यह अपराध की श्रेणी में आता है। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व भी अस्पताल में मरीज का ऑपरेशन करने के नाम पर पैसे वसूलने की घटना हो चुकी है। ऐसे डॉक्टर, नर्स पर कड़ी कार्यवाही नहीं होने पर भाजपा युवती को न्याय दिलाने लड़ाई लड़ेगी।