अपराध पर अंकुश लगा पाने में प्रदेश सरकार विफल, जनता असुरक्षित, छत्तीसगढ़ में भय और आतंक का वातावरण- विष्णुदेव साय*

10
ARTICLE TOP AD


रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रदेशभर में बिगड़ती व लाचार हो चुकी कानून व्यवस्था एवं बेखौफ व बेलगाम हो चुके आपराधिक तत्वों की वजह से प्रदेश में लगातार बढ़ रही दुष्कर्म, सामूहिक दुष्कर्म की हृदय विदारक घटना और बढ़ते अपराध पर अंकुश लगा पाने में प्रदेश सरकार को विफल बताया हैं। उन्होंने कहा कि कवर्धा में नाबालिग आदिवासी बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना स्तब्ध करने वाली हैं। आज छत्तीसगढ़ में भय आतंक का वातावरण निर्मित हैं प्रदेश की जनता असुरक्षित महसूस कर रही हैं। एक दिन पहले ही कानून व्यवस्था को लेकर गृहमंत्री पुलिस विभाग की बैठक लेते हैं और उसी शाम को राजधानी रायपुर में नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना सामने आती हैं। आज कवर्धा में आदिवासी नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना का सामने आना प्रदेश की बेलगाम और बिगड़ती कानून व्यवस्था की सच्चाई बयां करती हैं। कवर्धा में आदिवासी नाबालिग और राजधानी में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म की घटना दुखद दुर्भाग्यपूर्ण और हृदयविदारक हैं, उन्होंने प्रदेश सरकार से सामूहिक दुष्कर्म की दोनों दुर्भाग्यपूर्ण व हृदयविदारक घटना में गंभीरतापूर्वक कार्रवाही करते हुए शीघ्र अतिशीघ्र सभी आरोपियों की गिरफ्तारी एवं कठोर से कठोर कार्रवाही करने की मांग की हैं। उन्होंने पीड़ित पक्ष को शासन की तरफ से हर सम्भव मदद पहुचाने की भी मांग सरकार से की हैं।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में महज 23 महीनों में ही हमारा शांत छत्तीसगढ़ अपराध का गढ़ बन गया हैं। प्रदेश की जनता आज सोचने मजबूर हो चुकी हैं कि महज 23 महीनों में ऐसा क्या हो गया कि लगातार बलात्कार, सामूहिक बलात्कार, हत्या, लूट, अपहरण, चोरी, डकैती जैसी घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। प्रदेश में अपराधियों और माफ़िया का राज चल रहा हैं। प्रदेश की कानून व्यवस्था चरमरा गयी हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पूछा है कि आखिर महज 23 महीनों में ऐसा क्या हो गया कि कांग्रेस की सरकार आते ही शांत छत्तीसगढ़ अपराधगढ़ बन गया। उन्होंने कहा कि लगातार बलात्कार और सामूहिक बलात्कार की घटनाएं प्रदेशभर से सामने आ रही हैं। प्रदेश में मासूम बच्चियां सुरक्षित नहीं हैं। कानून व्यवस्था के नाम पर प्रदेश सरकार विफल हो चुकी हैं ऐसे में बीते दिनों प्रदेश के मंत्री द्वारा बलात्कार की घटना को छोटी घटना बताना और प्रदेश के कांग्रेस के नेताओं द्वारा बलात्कार जैसी घटना पर भी चयनात्मक राजनीति करते हुए अन्य प्रदेश में बलात्कार की घटना पर हल्ला मचाना और प्रदेश में लगातार घट रही बलात्कार की हृदयविदारक घटनाओं पर मौन साध लेना कांग्रेस के नेताओं की घृणित व दूषित मानसिकता का परिचायक हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कांग्रेस के नेताओं से पूछा हैं कि बेटी बेटी में फर्क क्यों? उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था और लापरवाही उजागर हो रही हैं ऐसे में प्रदेश सरकार को इसमें गंभीरता दिखाते हुए ठोस कदम उठाने की आवश्यकता हैं।