कांग्रेस शासनकाल में अपराधियों का दुस्साहस बढ़ा, अपराध अब उद्योग की शक़्ल अख़्तियार करते जा रहे हैं : भाजपा

ARTICLE TOP AD

0 भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने प्रदेश में लगातार बढ़ रहीं हृदयविदारक और आपराधिक वारदातों को लेकर सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया
0 प्रदेश सरकार संवेदनहीन, भाजपा आईना दिखाती है तो कांग्रेस नेता बिफरकर मर्यादाहीन व निम्नस्तर की बयानबाजी कर झूठ और नफ़रत की सियासत पर उतर जाते हैं

  • गृह मंत्री साहू से सवाल : जब राजधानी में ही प्रदेश सरकार की स्मार्ट पुलिसिंग फेल हो चली है तो राज्य के बाकी इलाकों का क्या हाल होगा?*
    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने राजधानी समेत इससे लगे इलाकों में लगातार बढ़ रहीं हृदयविदारक और आपराधिक वारदातों को लेकर प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि इसी सप्ताह अभनपुर में एक ही परिवार के पाँच लोगों की मौत की हृदयविदारक घटना ने समूचे प्रदेश को हिला दिया था और अब 24 घंटे के भीतर राजधानी में दो लोगों की निर्मम हत्या ने क़ानून-व्यवस्था पर सवाल उठाया है। श्री श्रीवास्तव ने प्रदेश के कृषि मंत्री रवींद्र चौबे के विधानसभा क्षेत्र में एक किसान की आत्महत्या को लेकर भी प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है।
    भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री श्रीवास्तव ने प्रदेश में हत्या, आत्महत्या, ठगी, चाकूबाजी, बलात्कार, अपहरण जैसे बढ़ते अपराधों को लेकर कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई है, अपराधियों का दुस्साहस बढ़ा है और अब तो यह साफ़ ज़ाहिर हो रहा है कि प्रदेश में ये अपराध अब उद्योग की शक़्ल अख़्तियार करते जा रहे हैं और प्रदेश सरकार की उदासीनता के चलते राजनीतिक संरक्षण पाकर तमाम आपराधिक तत्व प्रदेश में दहशतगर्दी का माहौल क़ायम करने में लगे हैं। श्री श्रीवास्तव ने प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से सवाल किया कि जब राजधानी में ही उनकी स्मार्ट पुलिसिंग फेल हो चली है तो प्रदेश के बाकी इलाकों का क्या हाल होगा? राजधानी के टिकरापारा स्थित सुदामानगर में निगरानीशुदा बदमाश भोला तांडी, इसके ठीक बाद माना कॉलोनी में रहने वाले युवक देवव्रत विश्वास की हत्या के साथ ही बिरगाँव के मेटल पार्क में शराब दुकान में कार्यरत युवक विशेश्वर मरकाम के मिले जले हुए शव के मामलों का ज़िक्र कर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि बढ़ते अपराधों ने आम नागरिकों की सुरक्षा के सरकारी दावों को खोखला साबित कर दिया है।
    भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री श्रीवास्तव ने कहा कि एक तरफ़ प्रदेश में अपराधों की बाढ़ आई हुई है, तो दूसरी तरफ़ प्रदेश सरकार की नाक़ामियों के चलते लोग आत्मघात जैसे क़दम उठाने को विवश हो रहे हैं। अभनपुर की घटना इस तथ्य की तस्दीक करती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री साहू और कृषि मंत्री चौबे के अपने गृह ज़िलों में किसान लगातार आत्महत्या करने को विवश हो रहे हैं। कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री धनेंद्र साहू के अपने गाँव में एक किसान ने आत्महत्या कर ली। किसानों की आत्महत्या के ये मामले प्रदेश सरकार के किसान विरोधी होने पर मुहर लगाते हैं। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरह संवेदनहीन हो चुकी है और एक सजग विपक्ष के नाते जब भाजपा प्रदेश सरकार को आईना दिखाती है तो कांग्रेस के नेता बिफरकर मर्यादाहीन व निम्नस्तर की बयानबाजी करके झूठ और नफ़रत की सियासत पर उतर जाते हैं। श्री श्रीवास्तव ने इस बात पर हैरत जताई कि प्रदेश में क़ानून के राज को रोज़ ठेंगा दिखाया जा रहा है और प्रदेश के गृह मंत्री इसे क़ानून-व्यवस्था का मसला मानने को तैयार ही नहीं हैं!