भाजपा द्वारा कोरोना काल में जनता को आवश्यक सेवा मुहैया कराना छोड़ प्रदेश में मंडल स्तर पर कार्यकर्ताओं के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कहा तक उचित…? कन्हैया

ARTICLE TOP AD

रायपुर । छत्तीसगढ़ के सभी 28 जिले गंभीर रूप से कोरोनावायरस संक्रमण के चपेट में आ चुके हैं शासन और प्रशासन हर स्तर पर और सामाजिक संस्थाएं अपना सहयोग देकर इसे रोकने का प्रयास कर रहे हैं लोगों का तो यह कहना है कि व्यापार चला जाए नौकरी चली जाए लेकिन अगर 2020 में हमारा परिवार अगर सुरक्षित इस बीमारी से बच जाए तो इससे बड़ी कोई पूंजी नहीं है .. ऐसे दौर में भाजपा द्वारा जनता को आवश्यक सेवा मुहैया कराना छोड़ प्रदेश में मंडल स्तर पर कार्यकर्ताओं के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाना लोगों को ख़तरे में धकेलने का बड़ा माध्यम होगा…..
* प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री कन्हैया अग्रवाल ने उक्त आशय का बयान जारी करते हुए कहा की क्या भाजपा अब यह मान कर चल रही है कि 3 अक्टूबर 2020 तक छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में कोरोनावायरस संक्रमण समाप्त हो जाएगा इसीलिए तो उसने संगठन के 30 जिलों के मंडल स्तर पर 3 अक्टूबर से प्रशिक्षण वर्ग लगाने का निर्णय ले लिया है जिला अध्यक्ष और जिला महामंत्री को पत्रक भी जारी कर दिया गया है जिसमें प्रशिक्षण वर्ग का दिशा निर्देश है*
भाजपा को चिंतन करना चाहिए इतने लोग प्रशिक्षण के लिए एक साथ एकत्रित होंगे तो क्या प्रशासन से इसकी अनुमति ली गई है …
कहीं प्रशिक्षण में आए कार्यकर्ता कोरोनावायरस संक्रमण के चपेट में आ जाएंगे तो उस पर भाजपा की क्या सोच होगी उन्हें कैसे बचाया जाएगा
.