हाईटेंशन विद्युत तार की चपेट में आने से निर्माणाधीन मकान में काम कर रहे मजदूर की मौत

ARTICLE TOP AD

मनेंद्रगढ़ ! शहर के खान नर्सिंग होम के सामने स्थित टाटा मोटर्स में निर्माण कार्य में लगा एक मजदूर मंगलवार को हाई टेंशन विद्युत तार की चपेट में आ गया जिससे उसे गंभीर हालत में बैकुंठपुर जिला अस्पताल ले जाया जा रहा था तभी रास्ते में बरबसपुर के पास उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पूर्व में भी इसी तरह की घटना घटित हुई थी जिसमें हाईटेंशन तार की चपेट में आने से एक गार्ड की मौत हो गई थी !


मिली जानकारी के अनुसार खान नर्सिंग होम के सामने स्थित टाटा मोटर्स के ऊपर से हाइटेंशन विद्युत तार गुजरा हुआ है ! उसी हाईटेंशन तार के नीचे टाटा मोटर्स का निर्माण कार्य चल रहा है ! मंगलवार को बरकेला निवासी मजदूर देवनारायण काम करने के दौरान विधुत तरंगित तार की करंट के चपेट में आ गया।करंट लगते ही मजदूर देवनारायण बेहोश होकर नीचे गिर पड़ा और गंभीर रूप से घायल हो गया ! मजदूर को गंभीर हालत में नजदीक अस्पताल में ना ले जाकर उसे टाटा मोटर्स के संचालक द्वारा ईलाज के लिये निजी वाहन से बैकुंठपुर भेज दिया गया जहां रास्ते मे बरबसपुर के पास मजदूर की मौत हो गई।
जानकारी के मुताबिक मजदूर को करंट लगने के बाद संचालक द्वारा घटना की जानकारी ना ही पुलिस थाने में दी गई और ना ही गंभीर मजदूर को निकट के अस्पताल में ले जाया गया।अगर मजदूर को पास के किसी अस्पताल में ले जाया गया होता तो शायद उसकी स्थिति कुछ और हो सकती थी। बताया जा रहा है कि इसी तरह की एक और घटना बीते वर्ष 27 जुलाई 2019 को भी हुई थी जब सुबह लगभग 5:30 बजे एक गार्ड राजेन्द्र पाल शोरूम की छत पर गया और हाईटेंशन विद्युत तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गया था जिसकी बाद में मृत्यु हो गई थी। उस घटना की लीपापोती कर दी गई थी और किसी तरह की कार्रवाई नहीं हुई जिसका परिणाम यह हुआ कि 1 साल बाद फिर वहां काम चालू कर दिया गया और मंगलवार को फिर एक गंभीर हादसा घटित हो गया जिसमें मजदूर देवनारायण की जान चली गई। सवाल यह उठता है कि हाईटेंशन विद्युत तार के नीचे निर्माण कार्य चालू करने की अनुमति किसके द्वारा दी गई थी ? यह जांच का विषय है!