बैंकों की लापरवाही के चलते किसान फसल बीमा क्षतिपूर्ति का लाभ पाने से वंचित हो रहे : भाजपा…

ARTICLE TOP AD

0 पूरी जानकारी न भेजकर बैंक प्रबंधन अपनी गलतियों का ठीकरा बीमा कंपनियों पर फोड़कर पल्ला झाड़ने में लगा है : शर्मा

0 फसल बीमा क्षतिपूर्ति की भरपाई लापरवाही करने वाली बैंक शाखा से कराई जाए और किसानों के साथ न्याय किया जाए

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संदीप शर्मा ने कहा है कि बैंकों की लापरवाही के चलते किसान फसल बीमा क्षतिपूर्ति का लाभ पाने से वंचित हो रहे हैं और बैंक प्रबंधन अपनी गलतियों का ठीकरा बीमा कंपनियों पर फोड़कर पल्ला झाड़ने में लगा है। श्री शर्मा ने कहा कि इस पूरे मामले की जाँच कर लापरवाही करने वाली संस्था से किसानों की फसल बीमा क्षतिपूर्ति कराई जाए।
भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि नवागढ़ (बेमेतरा) के अंतर्गत आने वाले ग्राम बुचिपुर के किसान मोहित वर्मा, टीकाराम साहू और राजू तिवारी ने बेमेतरा के बैंक ऑफ इंडिया से रबी सत्र 2019-20 के लिए ऋण लिया था। बैंक ने 31 दिसंबर 2019 को अनिवार्य फसल बीमा के अन्तर्गत फसल बीमा प्रीमियम की राशि भी ऋणी किसानों के खातों से काट ली थी। प्रतिकूल मौसम के चलते फसल को भारी क्षति हुई और जुलाई-अगस्त 2020 में गाँव के अन्य बीमाधारी किसानों को क्षतिपूर्ति राशि मिलने पर इन किसानों ने अपनी बैंक शाखा से संपर्क किया और क्षतिपूर्ति राशि नहीं मिलने की जानकारी ब्रांच मैनेजर को दी। श्री शर्मा ने कहा कि किसानों द्वारा इस संबंध में जवाब-तलब करने पर बैंक मैनेजर ने टका-सा जवाब दिया कि बीमा कंपनी ने आप लोगों का प्रीमियम लौटा दिया है और वह राशि आपके खातों में 31 मई 2020 को जमा कर दी गई है।

भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि इस गड़बड़ी की जाँच के लिए बीमा कंपनी से संपर्क किया गया तो इन किसानों को जानकारी मिली कि बीमा प्रीमियम की राशि के साथ किसानों के नाम, गाँव और फसल की जानकारी केन्द्र सरकार के पोर्टल में देने की जिम्मेदारी संबंधित बैंक की होती है। निर्धारित समय में समस्त जानकारी के बिना प्रीमियम राशि भेजने से बीमा अमान्य हो जाता है, ऐसी परिस्थिति में कम्पनी प्रीमियम की राशि वापस लौटा देती है, यह बैंक की चूक है। श्री शर्मा ने कहा कि इस प्रकार की लापरवाही के चलते किसानों को भारी हानि उठानी पड़ रही है। इस प्रकार की गड़बड़ी की शिकायत राजनांदगाँव, कवर्धा व बालोद जिलों में बहुतायत से प्रकाश में आई है। श्री शर्मा ने मांग की है कि किसानों की फसल बीमा क्षतिपूर्ति की भरपाई लापरवाही करने वाली बैंक शाखा से कराई जाए और किसानों के साथ न्याय किया जाए।