परसागुड़ी बिजली करंट से युवक की मौत मामले में और दो युवक गिरफ्तार,जेल दाख़िल

ARTICLE TOP AD

अनिल सोनी
बलरामपुर।
राजपुर पुलिस निरीक्षक फरदीनन्द कुजुर ने बताया की ग्राम परसागुड़ी के सिरकी जंगल में युवक की बिजली करंट की चपेट में आने से मौत हो गई थी। माममे में पांच युवक शामिल थे तीन युवक को गिरफ़्तार जेल भेजा गया था उसके दो सहयोगी  को गिरफ्तार का शनिवार को जेल भेजा गया।


पुलिस निरीक्षक फरदीनन्द कुजुर ने बताया कि राजपुर मुख्यालय से करीब 5 किलोमीटर दूर ग्राम परसागुड़ी के खुठनपारा निवासी 19 वर्षीय सुधीर पावले पिता रामऔतार पावले परसागुड़ी के रौनाखोता यादव लाइन होटल में रह कर कार्य करता था। 26 जुलाई की दरम्यानी रात्रि करीब सवा बारह बजे तक होटल के सामने चौकी पे लेटकर टीवी देखा था। उसके बाद होटल संचालक प्रमोद यादव मकान के अंदर सोने चले गये। 27 जुलाई की सुबह करीब छह बजे गांव के ग्रामीण महिलाएं-पुरुष जंगल मे खुखड़ी चुनने गये थे। परसागुड़ी व डिगनगर के सीमा सिरकी जंगल के रास्ते मे युवक की संदिग्ध अवस्था मे लाश देख अचेत रह गये तत्काल गांव वालों को सूचना दिया। सूचना उपरांत मौके पर पुलिस व अंबिकापुर से फॉरेंसिक टीम से एस.के. सिंह,डॉग स्क्वायड पहुचंकर आरोपियों की तलाश में जुटी थी। मृत युवक का करीबी दोस्त ग्राम परसागुड़ी निवासी 19 वर्षीय सुझदेव मरावी पिता मनबोध मरावी को पुलिस थाना लाकर कड़ाई से पूछताछ करने पर बताया था कि ग्राम डिगनगर निवासी एक 19 वर्षीय युवती के साथ प्रेस प्रसंग था। 26 जुलाई की दरम्यानी रात्रि युवती सुझदेव मरावी के यहां आई थी। 26 जुलाई की करीब साढ़े बारह बजे पैदल मृतक सुधीर पावले के साथ दोनो जंगल के रास्ते से युवती को छोड़ने डिगनगर जा रहे थे। सिरकी जंगल मे अज्ञात लोगों ने जानवर मारने के लिए जीआई तरंगित तार बिछाकर छोड़ा था। सुधीर पावले की बिजली करंट की चपेट में आने से मौत हो गई थी। डंडे से बिजली करंट को किनारे कर लाश को छोड़ कर डर से भाग गये थे । युवक की लाश को पंचनामा पश्चात पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया था। पुलिस ने बिजली करंट बिछाने वालो के विरुद्ध मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुटी थी। पुलिस नेे मुखबीर की सूचना पर शुक्रवार को 28 वर्षीय बसंत मराबी उर्फ भूलन पिता सतन मराबी, 20 वर्षीय पंचन राम पिता रामदेव चेरवा,20 वर्षीय रामधारी कुमार पिता अनुज गोड़ को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। उसके दो सहयोगी ग्राम परसागुड़ी निवासी 20 वर्षीय मोटू उर्फ उदेश्वर पिता एतवा राम चेरवा व 16 वर्षीय नाबालिग़ को गिरफ़्तार कर 
आरोपियों के विरुद्ध धारा 304,34 आईपीसी,बिजली विधुत की धारा 135 दर्ज कर तीन आरोपियों को न्यायालय से जेल भेजा गया। कार्यवाई के दौरान-पुलिस निरीक्षक फरदीनन्द कुजुर, उप निरीक्षक अखिलेश सिंह, सतीश कुमार सोनवानी, सहायक निरीक्षक अर्जुन यादव, रिंकू कश्यप,विष्णुकांत मिश्रा आदि सक्रिय थे।