बेरोज़गार युवक के आत्मदाह की कोशिश से प्रदेश सरकार की शर्मनाक विफलता ज़ाहिर हुई : भाजपा

ARTICLE TOP AD

चावल का कटोरा देखते ही देखते कटोरे भर चावल को मुहताज.

अंतरराष्ट्रीय समस्याओं के विशेषज्ञ भूपेश बघेल कांग्रेस का बीजिंग प्रकोष्ठ सम्हालें, किसी ज़मीनी आदमी को दें प्रदेश की बागडोर.

डेढ़ साल का कांग्रेस शासन छत्तीसगढ़ के लिए काले अध्याय के रूप में जाना जा रहा है : साय

मुकेश वर्मा – – रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेशाध्यक्ष विष्णु देव साय ने सीएम हाउस के सामने धमतरी निवासी बेरोज़गार युवक हरदेव सिन्हा द्वारा आत्मदाह की कोशिश की घटना को हृदयविदारक कहा है। श्री साय ने इस घटना पर गम्भीर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने शासन से मांग की है कि युवक को बेहतर से बेहतर चिकित्सा उपलब्ध कराये जाय।

प्रदेशाध्यक्ष श्री साय ने कहा कि जब सत्ताधारी कांग्रेस अपने अध्यक्ष के कार्यकाल का एक वर्ष पूरे होने का जश्न मना रही थी, उसी समय सीएम हाउस के बाहर ही ऐसी घटना होना कांग्रेस सरकार की पोल खोलता है। श्री साय ने कहा कि दस लाख युवाओं को नौकरी और बेरोज़गार युवाओं को बेरोज़गारी भत्ता देने का प्रपंच रच कर सत्ता में आयी सरकार ने किस तरह युवाओं को ठगा है, उनकी भावनाओं से खिलवाड़ किया है, यह दुखद घटना उसी का प्रकटीकरण है। बेरोज़गारी से त्रस्त युवक अब आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर हो रहे हैं। श्री साय ने युवक के सुरक्षित रहने और शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।

प्रदेशाध्यक्ष श्री साय ने कहा कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर बुरी तरह विफल है। जिस युवक ने आत्महत्या की कोशिश की है, उनके घर में चावल ख़त्म हो गया था, यानी खाने को कुछ नहीं था। उन्होंने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि ‘चावल का कटोरा’ की पहचान रखने वाले छत्तीसगढ़ प्रदेश में अब यहां के माटी पुत्र कटोरे भर चावल को मुहताज हो रहे हैं, आत्मदाह की कोशिश कर रहे हैं, मात्र अठारह महीने के कार्यकाल में कांग्रेस सरकार ने ऐसी दुर्गति कर दी प्रदेश की। भाजपा इसकी भर्त्सना करती है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णु देव साय ने कहा कि सबसे बड़ी समस्या यह है कि छत्तीसगढ़ के मामले और यहां की समस्या देखने के बजाय सीएम बघेल आजकल चीन मामलों के विशेषज्ञ हो गए हैं। ऐसा लगता है मानो छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री नहीं बल्कि कांग्रेस ने इन्हें पार्टी के चीन मामलों का प्रभारी नियुक्त किया है। इसी कारण अपने किये वादों को पूरे करने की कोशिश के बजाय सीएम आजकल चीनी कम्पनियों के फंडों पर समय लगा रहे। भाजपाध्यक्ष ने कहा कि ऐसे में बेहतर हो कि छत्तीसगढ़ की जिम्मेदारी कांग्रेस के किसी अन्य नेता के हाथ में देकर भूपेश पूर्णकालिक पार्टी के विदेशी मामलों के विशेषज्ञ के रूप में अपनी सेवाएं दें।

प्रदेश भाजपाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की सरकार ने पीडीएस द्वारा चावल देने के अलावा इस बात की भी हमेशा चिंता की कि पंचायतों में चावल का पर्याप्त स्टॉक रहे ताकि भूख से किसी को परेशान न होना पड़े लेकिन, कोरोना काल में भी कांग्रेस सरकार पंचायतों में भी बाज़ार दर पर पैसे लेकर चावल खपाने लगी, जिसका नतीज़ा सामने है कि हरदेव जी के घर में मुट्ठी भर चावल भी नहीं बचा था।

श्री साय ने कहा कि गंगाजल उठा कर शपथ लेने के बावजूद सत्ता में आने पर प्रदेश में शिक्षित बेरोज़गारों के लिए सरकार न तो कोई पहल की और न ही इन युवकों को वादे के मुताबिक़ बेरोज़गारी भत्ता दिया जा रहा है। प्रदेश के हर वर्ग के साथ धोखाधड़ी और छलावा कर रही प्रदेश सरकार ने सत्ता में आने के बाद नई भर्तियों को रोककर शिक्षित युवकों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का काम किया है। श्री साय ने कहा कि शिक्षक और पुलिस भर्ती की प्रक्रिया को अंतिम चरण में निरस्त करके प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने युवकों को गहरी निराशा के गर्त में धकेलने का काम किया है। यह डेढ़ साल का कांग्रेस शासन छत्तीसगढ़ के लिए काले अध्याय के रूप में जाना जा रहा है जिसमें अब तक प्रदेश सरकार ने सिर्फ़ 18 सौ युवकों को घर-घर शराब पहुँचाने के लिए डिलीवरी ब्वॉय के तौर नियुक्त किया है। श्री साय ने कहा कि बेरोज़गार युवकों के साथ छलावा और उन्हें आत्मघात के लिए मजबूर करके भी प्रदेश सरकार को शर्म तक महसूस नहीं हो रही है और मुख्यमंत्री बघेल प्रदेश से किए गए वादों पर ईमानदारी से काम करने के बजाय राजनीतिक नौटंकियाँ करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं।