मामा भांजा की राजनीति का शिकार होकर खुद छोड़ी भाजपा : सत्तार अली

ARTICLE TOP AD

मनेन्द्रगढ़। झगराखांड नगर पंचायत उपाध्यक्ष सत्तार अली ने भाजपा से निष्कासित करने के सवाल पर एक बयान जारी कर अपने बयान मैं कहा कि वह एक परिवार की पार्टी को 6 माह पूर्व ही छोड़ दिया था। आज उसे पार्टी द्वारा निष्काषित कर अपनी कमियां छिपाने के लिए पेपरबाजी की रही है। कांग्रेस के कार्यो को देखते हुए भाजपा के पार्षद कांग्रेस प्रवेश कर रहे है जिससे भारतीय जनता पार्टी बौखला गयी है। प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से नगर पंचायत उपाध्यक्ष सत्तार अली ने पूर्व विधायक श्यामबिहारी जायसवाल पर भी जमकर निशाना साधा है। अली ने कहा है कि झगराखांड नगर पंचायत में मामा भांजा की राजनीति का शिकार होने पर उसने भाजपा का दामन छोड़ा। उन्होंने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी से तीसरी बार चुनाव जीता। इससे पहले नगर पंचायत में नेता प्रतिपक्ष था। इस चुनाव में उसने अध्यक्ष की दावेदारी के लिए जिलाध्यक्ष कृष्णबिहारी जायसवाल से चर्चा की तो भाजपा जिलाध्यक्ष ने पूर्व विधायक श्यामबिहारी जायसवाल से बात करने को कहा। तब उसने पूर्व विधायक के समक्ष अपनी नगर पंचायत अध्यक्ष की दावेदारी जताई तो उन्होंने कहा नगर पंचायत झगराखांड में भांजा उमेश जायसवाल नही तो कोई नही। पूर्व विधायक श्यामबिहारी जायसवाल ने कहा अगर आप मेरे भांजे के साथ नही है तो इस्तीफा दे दीजिए। तब उसने पार्टी छोड़ने का मन बनाया और कांग्रेस प्रवेश कर नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की तरफ से नगर पंचायत उपाध्यक्ष का प्रत्याशी बना और जीतकर नगर पंचायत उपाध्यक्ष बना।

झगराखांड में कमजोर होगी भाजपा

नगर पंचायत उपाध्यक्ष सत्तार अली ने कहा की पूर्व विधायक श्यामबिहारी जायसवाल की मामा भांजा राजनीति से आने वाले दिनों में झगराखांड में भाजपा और कमजोर होगी। सत्तार अली ने कहा कि हाल ही में भाजपा की वार्ड क्रमांक 14 की पार्षद प्रमिला सूर्यवंशी ने कांग्रेस की कार्यशैली से प्रभावित होकर कांग्रेस प्रवेश किया है। अगर आने वाले दिनों में कोई और भाजपा पार्षद भी कांग्रेस प्रवेश करता है तो कोई हैरानी की बात नही होगी।