सूरजपुर : कोरिया जिले के बड़सरा चेक पोस्ट पर मिले कोरोना संदिग्ध भेजें गये कोरनटाईन सेंटर पिता – पुत्र की रिपोर्ट आई पाजिटिव..

ARTICLE TOP AD

भैयाथान – (दीपक गुप्ता) मुंबई व शहडोल से लौटे संदिग्ध पिता-पुत्र की कोरोना वायरस जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन ने क्वॉरेंटाइन सेंटर में सेवा देने वाले 2 पुलिस कर्मी एवं 3 अन्य सेवा सहयोगियो को भी क्वॉरेंटाइन कर दिया है। गौरतलब है कि बसदई स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय भवन के फैसिलिटी कोरनटाईन सेंटर में रखे गए 55 वर्षीय ग्रामीण मजदूर पिता के साथ दो पुत्रो की कोरोना वायरस जांच रिपोर्ट में पिता समेत 30 वर्षीय एक पुत्र भी पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट हो गया है और पॉजिटिव पिता – पुत्र के संपर्क में आने वाले समस्त संभावित लोगों को क्वॉरेंटाइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, जिसमें पॉजिटिव आने वाले 2 लोगो के अलावा विभिन्न स्तर की जांच करने वाले पुलिस अमले के 2 सदस्यों के साथ -साथ स्वच्छता दूत व अन्य कुल 5 सहयोगी शामिल है। मुंबई से शहडोल फिर शहडोल से बैकुंठपुर और फिर बड़सरा स्थित चेक पोस्ट सीधे कोरनटाइन सेंटर पहुंचे थे तीनो यात्री विगत 20 मार्च को मुंबई से सूरजपुर लौटते वक्त शहडोल में पकड़ा गया था पीड़ित कोरोना पॉजिटिव पिता उसके बाद दोनों पुत्र पिता को वापस घर लाने 19 मई को निकले थे शहडोल पिता को शहडोल से 20 मई को वापस लाते वक्त बैकुंठपुर पुलिस ने चेकिंग के दौरान पूछताछ करने रोका और उन्हें चंद एक नजर आने पर फोन कर कोरिया व सूरजपुर जिले की सीमा मैं मौजूद बड़सरा चेक पोस्ट पर इसकी सूचना दी सूचना मिलते ही भैयाथान पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के सयुक्त टीम ने बड़सरा चेक पोस्ट पर पिता-पुत्र समेत तीन लोगों को रोककर वहां से उन्हें सीधे बसदई स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय भवन के फैसिलिटी कोरनटाइन सेंटर में भेज दिया था। जिन्हें जिला प्रशासन व स्वास्थ्य अमले के द्वारा कोरनटाइन में रखा गया था जिसके एक सप्ताह के बाद इन सभी के कोरोना सैंपल लेकर जांच रिपोर्ट हेतु भेजा गया था जिसके बाद गुरुवार 5 जून की देर रात पिता पुत्र की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के पश्चात दोनों को जिला प्रशासन व स्वास्थ्य अमले और पुलिस टीम के द्वारा रात को ही तत्काल अंबिकापुर स्थित मेडिकल कॉलेज में उपचार हेतु भेज दिया गया है। जिसमे एक पुत्र के रिपोर्ट नेगेटिव आना बताया गया है। और अब पिता-पुत्र की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर तीन हो गई है।