कैबिनेट सचिव ने कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित 13 शहरों के नगर निगम आयुक्‍तों और जिला मजिस्‍ट्रेटों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की

ARTICLE TOP AD

.

इंदौर – कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने कोविड-19 से प्रभावित 13 शहरों के नगर निगम आयुक्‍तों और जिला मजिस्‍ट्रेटों के साथ आज बैठक में स्थिति की समीक्षा की। इन 13 शहरों में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति बहुत खराब है और देश के लगभग 70 प्रतिशत संक्रमित लोग इन शहरों में हैं। इन शहरों में मुंबई, चेन्‍नई, दिल्‍ली, अहमदाबाद, ठाणे, पुणे, हैदराबाद, कोलकाता, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, चेंगलपट्टू और तिरूवल्‍लूर शामिल हैं। बैठक के दौरान नगर निगमों द्वारा कोविड-19 के मामलों से निपटने के लिए उठाये गये कदमों की समीक्षा की गई। संबंधित राज्‍यों और केन्‍द्रशासित क्षेत्रों के मुख्‍य सचिवों ने भी समीक्षा बैठक में हिस्‍सा लिया।

केन्‍द्र सरकार शहरों के लिए कोविड-19 के प्रबंधन के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर चुकी है। इनमें ज्‍यादा जोखिमों वाले कार्य और कोरोना वायरस से पुष्‍ट मामले, मृत्‍यु दर, दोगुना होने की दर और प्रति दस लाख जांच की दर के संकेतक शामिल किये गये हैं। केन्‍द्र ने जोर देकर कहा है कि कन्‍टेंमेंट क्षेत्रों को भौगोलिक दृष्टि से तय करते समय मामलों की संख्‍या, संपर्क और स्थिति को ध्‍यान में रखा जाना चाहिए। इससे लॉकडाउन को बेहतर तरीके से लागू किया जा सकेगा।

नगर निगम आवासीय कॉलोनी, मोहल्‍लों, नगर निगम वार्ड, पुलिस स्‍टेशन, नगर निगम मंडल और नगर के आधार पर कन्‍टेनमेंट क्षेत्र बना सकते हैं। शहरों को सलाह दी गई है कि इलाकों को जिला प्रशासन द्वारा उचित तरीके से परिभाषित किया जाना चाहिए।