जिला पंचायत सीईओ हरीश एस ने कुसमी जनपद के ग्राम पंचायतों का किया निरीक्षण, हितग्राहियों से सामाजिक दूरी पालन करने की अपील

ARTICLE TOP AD

अम्बिकेश गुप्ता / कुसमी। लॉकडाउन में मनरेगा के कार्यों का शुक्रवार को बलरामपुर जिला पंचायत सीईओ हरीश एस. ने विकासखंड कुसमी के विभिन्न ग्राम पंचायतों में निरीक्षण किया साथ ही समाजिक दूरी का पालन कर समीक्षा बैठक ली. इस दौरान उन्होंने रोजगार सहायको व तकनीकी सहायकों के कार्यों में असन्तुष्टि जाहिर करते हुवे फटकार भी लगाया.

सीईओ हरीश एस ने ग्राम पंचायत नटवरनगर, श्रीकोट, करकल्ली व हर्री का दौरा किया। इस दौरान मजदूरों से मुलाकात कर मजदूरी भुगतान व कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन करने की अपील की। तथा इस ओर निरंतर मार्गदर्शन हेतु सचिव, रोजगार सहायक, तकनीकी सहायक को सजग किया. व कार्यक्रम अधिकारी को नियमित रुप से निगरानी करने निर्देश दिया है।

जिला पंचायत सीईओ हरीश एस. द्वारा मनरेगा के कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। इसी तारतम्य में जिला सीईओ शुक्रवार को विकासखंड कुसमी पहुँचे। सर्व प्रथम उन्होंने ग्राम पंचायत नटवरनगर के शासकीय नरसरी / उद्यान में डबरी व कूप निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया. यहां से निरीक्षण उपरांत जिला सीईओ ने जनपद पंचायत कुसमी के सभागार में बैठक लेकर ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत स्वीकृत कार्यों में सोशल डिसटेंसिंग रखकर कार्यो में तेजी लाने के लिए कहा. उन्होंने विकासखंड में 9 नाला पूर्णोदार व गहरीकरण के कार्यों को जल्द शुरू करने के लिए जनपद पंचायत सीईओ विनोद जायसवाल को निर्देशित किया है, जिसके बाद जिला पंचायत सीईओ ने ग्राम श्रीकोट, करकल्ली व हर्री में भी मनरेगा के तहत डबरी, तालाब, नाला पूर्णोदार एवं गहरीकरण कार्यों का निरीक्षण किया गया. जिला सीईओ ने इस दौरान हितग्राहियों से चर्चा भी कीया. जिला सीईओ के साथ जिला कार्यक्रम अधिकारी मोहन पाठक व संजय यादव भी मौजूद थें. इस दैरान कुसमी जनपद सीईओ विनोद जायसवाल, पीओ विनय तिर्की, पंचायत निरीक्षक महेशराम बुनकर सहित तकनीकी सहायक उपस्थित थें.


लॉकडाउन में मनरेगा का कार्य ग्रामीण मजदूरों के लिये संजीविनी

जिला सीईओ ने कुसमी जनपद सीईओ, पीओ मनरेगा व तकनीकी सहायकों को निर्देशित किया गया है कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्यां में मजदूरी का भुगतान समय पर किया जाये। उन्होंने सभी जनपद सीईओ से कहा है कि सभी पंचायतों में मनरेगा के तहत पर्याप्त कार्य स्वीकृत किए जाएं ताकि लोगों को ज़्यादा से ज़्यादा रोजगार मिलता रहे. उन्होंने कहा की मनरेगा के कार्य शुरू किये जाने से ग्रामीण परिवारों की अर्थव्यवस्था व जिन्दगी दुबारा पटरी पर लौट आई है. इस प्रकार लॉकडाउन में मनरेगा के कार्य ग्रामीण मजदूरों के लिये संजीविनी का कार्य कर रही हैं।

श्रीकोट में कम मजदूर देख नाराज हुवे जिला सीईओ

ग्राम पंचायत श्रीकोट में चल रहे नाला ट्रीटमेंट के कार्य मे पहुँचे कम मजदूरों को देखकर जिला पंचायत सीईओ ने नाराजगी व्यक्त कर रोजगार सहायक व तकनीकी सहायक को कड़ी फटकार लगाई व अधिक से अधिक मजदूरों को कार्य दिए जाने की समझाईस दिया.